Get Latest News Tech Computer All Hardware & Software Info

What is BIOS in Computer Hindi - कंप्यूटर में बायोस क्‍या होता है

What is BIOS in Computer Hindi - कंप्यूटर में बायोस क्‍या होता है







जब 


आप कंप्‍यूटर स्‍टार्ट करते हैं तो सबसे पहले आपका सामना बायोस (BIOS) सेे ही होता है, लेकिन बहुत से यूजर्स इसके बारे में नहीं जानते हैंं, बायोस (BIOS) कंप्‍यूटर में बहुत महत्‍वपूर्ण जगह रखता हैं, आईये जानते हैं बायोस (BIOS) के बारे में - 






क्‍या होता है बायोस (BIOS) ?

जब आप कंप्‍यूटर स्‍टार्ट करते हैं और जो पहली स्‍क्रीन आपको दिखाई देती है वही बायोस (BIOS) है, बायोस (BIOS) की Full Form है बेसिक इनपुट आउटपुट सिस्‍टम (Basic Input Output System), यह आपके मदरबोर्ड के साथ जुुडा एक सॉफ्टवेयर है जो पीसी ऑन होने पर अपने आप शुरू हो जाता है, BIOS कंप्‍यूटर के ऑन होने पर रैम, प्रोसेसर, की-बोर्ड, माउस, हार्ड ड्राइव की पहचान कर उन्‍हें कन्फिगर (Configure) करता है।

BIOS कंप्‍यूटर सिस्टिम का एक अभिन्‍न हिस्‍सा है और इसका इतलब Basic Input Output System है| BIOS पीसी के फर्मवेयर का एक प्रकार है और यह पीसी के बूटींग प्रोसेस (स्‍टार्ट-अप) प्रक्रिया के दौरान इस्‍तेमाल होता है|



Where is the BIOS Stored ? बायोस (BIOS) यहॉ होता हैै? 

BIOS का सॉफ्टवेयर मदरबोर्ड पर नॉन-व्‍होलॅटाइल रॉम चीप पर स्‍टोर होता है| लेकिन यह रॉम EEPROM (Electrically Erasable and Programmable Read Only Memory) होती है, मतलब इसमें स्‍टोर BIOS को अपडेट या रि-राइट कर सकते है|
Complementary metal oxide semiconductor (CMOS) में BIOS कि सभी सेटींग स्‍टोर होती है| यह CMOS चीप को बैटरी से पावर मिलती है और जब यह बैटरी निकाल के फिर सें लगा दी जाती है तो CMOS की सभी सेटिंग्स डिफ़ॉल्ट हो जाती है|




Function of BIOS:

BIOS के कार्य :
BIOS का मुख्य कार्य पीसी पर ऑपरेटिंग सिस्टम को बूट करना होता है।
जब कंप्यूटर ऑन होता है, तब BIOS कई सारी बातें करता है। यह इसका सामान्य अनुक्रम है:
  • कस्टम सेटिंग्स के लिए CMOS सेटअप कि जाँच|
  • इनरप्ट हैन्डलर्स और डिवाइस ड्राइव्‍हर को लोड करना|
  • Power-on self-test (POST) को पर्फॉर्म करना|
  • सिस्टिम सेटींग को डिसप्‍ले करना|
  • कौनसे डिवाइस बूट हो सकते है यह तय करना|


How do I access BIOS?

पीसी ऑन होने के बाद तुरंत F2, F12, Delete या Esc कि प्रेस करे| हर पीसी में BIOS यह किज अलग-अलग होती है और यह मैन्यफैक्चरर के आधार पर बदलती है|



Configuring BIOS:

ऊपर दिए गए विधि सें जब BIOS कि सेटींग ओपन हो जाती है, और यहां कई टेक्स्ट स्क्रिन के सेट दिखांई देते है जिनमें कई सारे ऑप्शन होते है| इनमें से कुछ स्टैन्डर्ड होते है और बाकि BIOS के मैन्यफैक्चर के साथ बदलते है| BIOS सेटअप युटिलीटी स्क्रिन आम तौर पर पांच टैब में विभाजित होती है Main, Advanced, Power, Boot और  Exit और हर एक टैब में अलग-अलग ऑप्‍शन होते है|
अगर आप BIOS सेटिंग में परिवर्तन कर रहे है तो सावधानी से करें| नेविगेट करने के लिए टैब और ऐरो किज का उपयोग करें| आवश्‍यक आइटम के वैल्‍यू को बदने के लिए पेज अप और पेज डाउन किज का उपयोग करें| आखिर में यह चेंजेस सेव करने और बाहर निकलने के लिए F10 कि प्रेस करें|



How to Update BIOS:

BIOS पीसी का सबसे क्रिटिकल हिस्सा है। इसलिए यदि आवश्यक हो तो ही BIOS अपडेट करें, क्योंकी यह एक जटिल प्रक्रिया है और अगर इसमे एक त्रुटि तब होती है, तो यह आपके कंप्यूटर को अनबूटेबल कर देगा| BIOS का अपडेट अक्सर कई मुद्दों को हल करता है। BIOS अपडेट करने के लिए इन चरणों का पालन करें –
1) Windows में आपके BIOS के वर्जन की जाँच करें:
कंप्यूटर के मदरबोर्ड का BIOS वर्जन का पता लगाने के लिए कई तरीके हैं।
i) आपका कंप्‍यूटर रिस्‍टार्ट करें और BIOS में जाएं। BIOS के अंदर, आपको अपने कंप्यूटर के मदरबोर्ड द्वारा इस्तेमाल किया BIOS का वर्जन मिल जाएगा।
ii) Win+R किज प्रेस करें — सर्च बार में “Msinfo32” टाईप करें और Ok को क्लिक करें| इससे System Information Windows ओपन होगी| इसमें आपको BIOS का वर्जन दिखेगा|
iii) कमांड प्रॉम्प्ट में ” systeminfo | findstr /I /c:bios ” टाईप करें|





2) BIOS का कोई अपडेट उपलब्ध हैं इसकी जाँच करें:
आपको अपने कंप्यूटर के मदरबोर्ड द्वारा इस्तेमाल किया BIOS का वर्जन मिलने के बाद अब समय है इसका अपडेट वर्जन उपलब्‍ध है इसका पता लगानेका| अगर आपका पीसी ब्रांडेड है, तो अपने कंप्‍यूटर निर्माता कंपनी की वेब साइट पर खोज करें और अगर पीसी ब्रांडेड नही है तो मदरबोर्ड निर्माता की साइट पर अपडेट की खोज करें| और फिर सही BIOS की अपडेट फाइल को डाउनलोड करें|

3) डॉक्युमेंटेशन को पढ़ें:
BIOS को अपडेट करने से पहले, आपको अपना पीसी अनबूटेबल होने से बचाने के लिए अपडेट के डॉक्युमेंटेशन फ़ाइल को ध्यान से पढ़ना चाहिए।

4) अपने BIOS को अपडेट करें:

BIOS को अपडेट करने के लिए, सभी प्रोग्राम्स से बाहर निकलें और exe फ़ाइल रन करें| यह इन्स्टॉल कोने के बाद पीसी रिबूट होगा और BIOS को अपडेट करेगा।

नोट: अधिकांश BIOS अपडेट प्रोग्राम में अपने वर्तमान BIOS वर्जन के लिए एक बैकअप का विकल्प शामिल होता हैं। अगर ऐसी सुविधा उपलब्ध है, तो अपडेट करने से पहले अपने मौजूदा BIOS वर्जन का बैकअप ले।



0 comments:

Copyright © 2013 Free Computer Hardware & Software Tutorial - Hindi & English